वीवीपेट पर्ची की फोटो खींचकर दिखाने पर पैसे का दे रहे थे प्रलोभन, इसलिए सख्त हुआ चुनाव आयोग, जारी करना पड़ा अर्जेंट आदेश, जानिए क्या है मामला…

0 मतदान केंद्र के भीतर मोबाइल, कैमरे किए गए प्रतिबंधित

बिलासपुर। चुनाव के दौरान राजनीतिक दलों व प्रत्याशियों द्वारा तरह-तरह के हथकंडे अपनाए जाने की शिकायतें मिल रही हैं। कहीं वोट के बदले साड़ी-कपड़े, कम्बल तो कहीं शराब और नकदी रकम। ऐसी आशंका पर प्रदेश के कई स्थानों पर नकदी रकम व अन्य सामान जब्त भी किए गए।

ऐसे मामलों को देखते हुए चुनाव आयोग निष्पक्ष चुनाव करवाने लगातार कार्रवाई कर रहा है। इसी दौरान आयोग के पास लगातार ये शिकायत भी मिल रही है कि प्रत्याशियों द्वारा मतदाताओं को वोटिंग के बाद वीवीपेट से निकली पर्ची दिखाने पर रकम देने का प्रलोभन दिया जा रहा है।

इसे लेकर चुनाव आयोग बेहद गंभीर है। गड़बड़ी रोकने के लिए मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने मतदान के एक दिन पूर्व 19 नवंबर को अर्जेंट आदेश जारी किया है। इसमें मतदान केंद्र के 200 मीटर की परिधि में मोबाइल, कैमरे, कार्डलेस व अन्य इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों को प्रतिबंधित कर दिया गया है। यानी कोई भी व्यक्ति मतदान केंद्र में उक्त सामान नहीं ले जा सकेगा।

उल्लंघन पर 3 माह कारावास

आदेश का उल्लंघन कर मतदान की गोपनीयता भंग करने, या मतदान प्रभावित करने पर 3 माह कारावास व जुर्माने का प्रावधान है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *