कंगारुओं से भिड़ेगी टीम इंडिया, इसलिए बेहद रोमांचक होगा मैच

खेल डेस्क। टीम इंडिया व ऑस्ट्रेलिया के बीच तीन मैचों की टी-20 सीरीज का तीसरा और आखिरी मुकाबला रविवार को भारतीय समयानुसार दोपहर 1:20 बजे से सिडनी क्रिकेट ग्राउंड (SCG) में खेला जाएगा। चूंकि यह फाइनल मुकाबला है, इसलिए मैच बेहद रोमांचक होगा।

ब्रिस्बेन में हुए पहले टी-20 में मेजबान ऑस्ट्रेलिया ने रोमांचक मैच में विराट की सेना को 4 रनों से मात दी थी। इसके बाद मेलबर्न टी-20 में भारत अपनी सीरीज जीत को उम्मीदों को कायम रखने के लिए आगे बढ़ ही रहा था, कि बारिश ने सब पर पानी फेर दिया।

बारिश के कारण भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच दूसरा टी-20 मैच बेनतीजा रहा। अच्छी गेंदबाजी के बावजूद भारत के हाथ से तीन मैचों की टी-20 सीरीज में वापसी का सुनहरा मौका निकल गया। इसके साथ ही भारत की लगातार 7 टी-20 सीरीज जीतने के बाद यह दौड़ यहीं खत्म हो गई। क्योंकि तीन मैचों की इस सीरीज को भारत अब बराबर ही कर सकता है, जीत नहीं सकता।

स्टार खिलाड़ी स्टीव स्मिथ और डेविड वॉर्नर के बिना खेल रही कमजोर ऑस्ट्रेलियाई टीम के खिलाफ तीनों फॉर्मेट (टी-20, टेस्ट और वनडे) में सीरीज जीत का सपना लेकर आने वाली विराट ब्रिगेड की उम्मीदों को करारा झटका लगा है। ऑस्ट्रेलियाई दौरे पर टीम इंडिया को जैसी शुरुआत की उम्मीद थी, उससे बिलकुल उल्टा हुआ।

अब विराट कोहली की अगुवाई में टीम इंडिया ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सिडनी टी-20 में अपने गेंदबाजों से एक और जानदार प्रदर्शन की उम्मीद करके तीन मैचों की सीरीज बराबर करने की कोशिश करेगी।

सिडनी में जीत से भारतीय टीम को छह दिसंबर से एडिलेड में शुरू होने वाली टेस्ट सीरीज की असली परीक्षा से पहले सकारात्मक बने रहने में मदद मिलेगी। भारत का टी-20 में शानदार अभियान जुलाई 2017 के बाद से चला आ रहा है। इसके बाद से उसने जो 27 टी-20 इंटरनेशनल मैच खेले उनमें से 20 में उसे जीत मिली। यही नहीं अगस्त 2017 से भारत लगातार नौ टी-20 सीरीज में अजेय रहा है। इनमें ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अक्टूबर 2017 में दो मैचों की ड्रॉ सीरीज भी शामिल है।

भारत ने पिछली बार 2016 में ऑस्ट्रेलिया का तीन मैचों की टी-20 सीरीज में 3-0 से क्लीन स्वीप किया था। भारत को सिडनी में मेलबर्न वाली फॉर्म बरकरार रखनी होगी। भारतीय गेंदबाज ब्रिस्बेन में पहले मैच में प्रभाव नहीं छोड़ पाए थे, लेकिन इसमें बदलाव नहीं किया गया और इन गेंदबाजों ने मेलबर्न में बेहतर खेल दिखाया। तेज गेंदबाज और स्पिनर दोनों ही ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों पर दबाव बनाने में सफल रहे।

मेलबर्न से पहले चर्चा थी कि टीम मैनेजमेंट युजवेंद्र चहल को प्लेइंग इलेवन में शामिल कर सकता है, लेकिन ऐसा नहीं हुआ। ऐसी संभावना अब भी है, लेकिन गेंदबाजों के अच्छे प्रदर्शन को देखते हुए निर्णायक मैच में भी इसी टीम के साथ उतरा जा सकता है। कोहली ने क्रुणाल पंड्या की ऑलराउंड क्षमता पर पूरा भरोसा दिखाया है। पिछले मैच में पंड्या ने चार ओवर में 26 रन देकर ग्लेन मैक्सवेल को आउट किया था। सिडनी का विकेट भी धीमा रहता है और ऐसे में पंड्या को बाहर रखने की संभावना कम है।

अगर परिस्थितियां स्पिनरों के अनुकूल रहती है भारत चहल को प्लेइंग इलेवन में रखने पर विचार कर सकता है। इसके लिए खलील अहमद को बाहर बैठना होगा जो अभी तक महंगे साबित हुए है। खलील को बाहर करना भी आसान नहीं होगा क्योंकि कोहली भी कार्यवाहक कप्तान रोहित शर्मा की रणनीति पर चल रहे हैं। अहमद को भुवनेश्वर कुमार के साथ नई गेंद सौंपना और जसप्रीत बुमराह को पहले बदलाव के रूप में लाना. अगर अहमद नहीं खेलते हैं, तो भुवी और बुमराह को नई गेंद संभालनी होगी।

मेलबर्न में भले ही बारिश थमने का नहीं ले रही थी, लेकिन जब सलामी बल्लेबाज शिखर धवन और रोहित शर्मा बल्लेबाजी के लिए तैयार थे तब कोहली भी पैड पहने हुए थे। इससे संकेत मिलते हैं कि केएल राहुल की लगातार असफलता को देखते हुए कोहली तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी के लिए उतर सकते हैं।

ऑस्ट्रेलियाई टीम की भी अपनी चिंता है। उसका शीर्ष क्रम नहीं चल रहा है और तेज गेंदबाज बिली स्टेनलेक के चोटिल होने से उसकी समस्या बढ़ गई थी। ऑस्ट्रेलिया ने उनकी जगह मिशेल स्टार्क को टीम में लिया है, जिन्होंने अपना आखिरी टी-20 अंतरराष्ट्रीय मैच 2016 में खेला था। दूसरे मैच में नाथन कूल्टर नाइल उनकी जगह खेले थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *