पोस्टल बैलेट में भारी गड़बड़ी: मतदान दलों व सुरक्षा कर्मियों को अपने सामने बीजेपी के पक्ष में वोट डालने के लिए मजबूर कर रहे अफसर, प्रदेश कांग्रेस ने भारत निर्वाचन आयोग से की शिकायत

रायपुर। पोस्टल बैलेट में भारी धांधली की शिकायतें मिल रहीं हैं। कांग्रेस का आरोप है कि कई जिलों के कलेक्टर-एसपी पोलिंग पार्टी व सुरक्षा कर्मियों को अपने सामने वोट डालने और बीजेपी के पक्ष में वोटिंग के लिए मजबूर कर रहे हैं। मामले की शिकायत निर्वाचन आयोग से की गई है।

छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव के दौरान कई स्थानों पर गड़बड़ी की शिकायतें मिलती रही। मरवाही में तो बीजेपी के पक्ष में वोटिंग करवा रहे 2 पीठासीन अधिकारियों को चुनाव कार्य से अलग भी किया गया। दो थानेदारों को भी सस्पेंड किया गया।

अब पोस्टल बैलेट के दौरान भी धांधली की शिकायतें मिल रहीं हैं। प्रदेश के विभिन्न जिलों में पोलिंग पार्टी एवं सुरक्षाकर्मियों को सत्तारूढ़ दल भारतीय जनता पार्टी के पक्ष में मत डलने हेतु दबाव डाला जा रहा है। प्रदेश कांग्रेस संचार समिति सदस्य किरणमयी नायक ने इस आशय की शिकायत भारत निर्वाचन आयोग से करते हुए इस पर तत्काल रोक लगाने व निर्देश जारी करने की मांग की है।

शिकायत में उन्होंने कहा है कि प्रदेश के विभिन्न क्षेत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार कलेक्टर एवं पुलिस अधीक्षक कर्मचारियों को अपने सामने सत्तारूढ़ दल के पक्ष में मतदान के लिए मजबूर कर रहे हैं। यह स्वतंत्र एवं निष्पक्ष निर्वाचन प्रक्रिया का उल्लंघन एवं अपराध है। कृपया निष्पक्षता हेतु तत्काल निर्देश जारी करें।

दुर्ग आईजी-कलेक्टर व बिलासपुर कलेक्टर के खिलाफ खुली शिकायत:

प्रदेश कांग्रेस महामंत्री गिरीश देवांगन ने इस मामले में दुर्ग के आईजी जीपी सिंह, कलेक्टर उमेश अग्रवाल और बिलासपुर कलेक्टर पी. दयानंद के खिलाफ नामजद शिकायत की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *