खुद का होटल खोलने वेटर ने हार्वेस्टर व्यापारी के यहां की 4.84 लाख की चोरी, तीन साथियों समेत गिरफ्तार

कोनी क्षेत्र में हरियाणा से आए हार्वेस्टर व्यापारी के घर हुई चोरी के मामले का खुलासा

• घटना स्थल के पास स्थित ढाबा के वेटर व उसके साथियों ने की वारदात

• 2 नाबालिग सहित चार आरोपी गिरफ्तार

• साढ़े 4 लाख नकदी, मोबाइल, चार्जर व घटना में प्रयुक्त होण्डा बाइक सीजी. 10 ईसी 8895 बरामद

बिलासपुर। शनिवार दोपहर कोनी थाना क्षेत्र के मोपका बाइपास में एक हार्वेस्टर व्यापारी के यहां हुई लाखों की चोरी का मामला क्राइम ब्रांच पुलिस ने सुलझा लिया है। एक ढाबे के वेटर ने अपना खुद का होटल खोलने के लिए तीन साथियों के साथ मिलकर वारदात को अंजाम दिया था, जिनमें 2 नाबालिग हैं। पुलिस ने चारों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।

घटना 1 दिसंबर की है। सुखवंत सिंह पिता बलदेव सिंह (45 वर्ष) जो मूलत सिवन थाना सिवन जिलाधल हरियाणा का रहने वाला है , और हार्वेस्टर चलाने का काम करता है,
हरियाणा से हार्वेस्टर चलाने छत्तीसगढ़ आया है। कुछ दिनों से वह मोपका बाइपास में
सी.जी 10 ढाबा के पास ग्राम बिरकोना के राजेश श्रीवास के प्लाट में किराये का मकान
लेकर अपने अन्य सहयोगियों के साथ रह रहा है।

उसने अपने पुराने हार्वेस्टर को नयागांव
सीपत के पिताम्बर कुर्मी को पंद्रह दिन पूर्व 15 लाख रुपए में बेचा था, जिससे
मिले नगद 4 लाख 84 हजार के रुपए को उसने अपने किराए के मकान में बैग में भर
कर रखा था।

1 दिसंबर को दोपहर में उनकी जीप खराब हो जाने के कारण सभी सदस्य उसे बनवाने के लिये डेरा में तालाबंद करके चले गए थे। वहां से शाम को लौटे। इस बीच चोरों ने मकान के पीछे खिड़की में लगे लोहे के ग्रिल एवं जाली
को तोड़कर मकान के अंदर प्रवेश कर गए। मकान में रखे नगदी रकम 4,64000 रुपए,
एक मोबाईल व पावरबैंक को चोरी कर लिया था। प्रार्थी सुखवंत सिंह द्वारा घटना की सूचना थाना कोनी में दर्ज कराई गई थी।

उप पुलिस अधीक्षक काइम ब्रांच प्रवीण चंद्र राय, उनकी टीम व कोनी पुलिस ने पतासाजी करते हुए आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। आरोपी ग्राम बेमा निवासी बनवारी उर्फ कृष्ण चंद्र यादव इस मामले का मुख्य आरोपी है। वह एक ढाबे में वेटर का काम करता है। अपना खुद का होटल खोलने के लिए उसने शेलेन्द्र रजक व दो नाबालिग साथियों के साथ मिलकर वारदात को अंजाम दिया।

पुलिस ने आरोपियों के बताए अनुसार नगोई एवं हरदीडीह के बीच जंगल में छिपाकर रखे प्रार्थी के मोबाइल फोन एवं पावर बैक (चार्जर) बरामद का लिया। साथ ही आरोपियों के मकान से कुल 4,50,000 रुपए एवं घटना में प्रयुक्त होण्डा साईन मोटरसायकल सी.
जी 10 ईसी 8395 जब्त किया गया है।

प्रकरण को सुलझाने में काइम ब्रांच के सहायक उप निरीक्षक हेमंत आदित्य, आरक्षक अशोक चौरसिया, अशोक मिश्र, अनिल साहू ने आरक्षक वीरेन्द, विकास यादव, कमल साहूबोथू राम कुम्हार, अविनास पाण्डेय की महत्वपूर्ण भूमिका रही।

गिरफ्तार आरोपियों के नाम :-

  • बनवारी उर्फ कृष्णचंद्र यादव पिता लतेल राम यादव उम्र 21 वर्ष निवासी स्कूल चौक बैमा, सरकंडा बिलासपुर।
  • शैलेन्द्र रजक उर्फ गोन्टू पिता सुखचंद्र रजक उम्म-22 वर्ष निवासी चौहान पारा नगोई सरकंडा बिलासपुर।
  • दो अन्य नाबालिग।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *