जन स्वास्थ्य सहयोग गनियारी ने वनग्राम में आदिवासियों को उपलब्ध कराए कंबल

खबरची, बिलासपुर। “जन स्वास्थ्य सहयोग गनियारी” संस्था ने कड़ाके की ठंड से गरीब आदिवासियों को बचाने के लिए कंबल व।गर्म कपड़े उपलब्ध कराए।

“जन स्वास्थ्य सहयोग गनियारी” संस्था पिछले 18 सालों से जन हित के कार्यों में हमेशा बढ़ चढ़कर अपना योगदान देती आ रही है। संस्था ग्रामीण क्षेत्र के आदिवासी बाहुल्य इलाके में लोगों को किफायती, प्रभावी स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध करने का कार्य निरंतर कर रही है! साथ ही साथ 6 माह से 3 साल तक के बच्चों के पोषण के लिए एवं कुपोषण प्रबंधन हेतु झूलाघर (फुलवारी ) भी सचालित कर रही है, जिससे कुपोषण रोक पाने में मदद मिले।

क्षेत्र के इन्हीं गांवों में कड़ाके की ठंड में गरीब आदिवासियों के पास ठंड से बचने के लिए कपडे भी नहीं होते। कई मर्तवा उन्हें अलाव (अंगीठा) के सहारे से रात गुजारना पड़ता है। ऐसे ही कोटा जनपद पंचायत के ग्राम पंचायत सेमरिया का आश्रित ग्राम माझीपारा में बिरहोर बैगा आदिवासी जनजाति के 30 से 35 भूमिहीन परिवारों के पास ओढ़ने के लिए चादर तक नहीं है। संस्था ने उन परिवारों को ठण्ड से बचने के लिए गरम कम्बल उपलब्ध कराए। इस अवसर पर सामाजिक कार्यकर्ता अनिल बामने, बेन्रात्नाकर एवं प्रकाशमणि संतोष मरावी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *