बीमार सिम्स की नब्ज़ टटोलने पहुंचे नए कलेक्टर, उपचार की जागी उम्मीद

0 कलेक्टर ने सिम्स काॅलेज व अस्पताल का निरीक्षण किया

खबरची, बिलासपुर 2 जनवरी। संभाग के लाखों आम मरीजों का एकमात्र सहारा छत्तीसगढ़ आयुर्विज्ञान संस्थान (सिम्स) खुद ही लंबे समय से बीमार चल रहा है। विशेषज्ञ डॉक्टर व स्टाफ की कमी, फैकल्टी, संसाधनों का टोटा आज तक बना हुआ है। दुखद ये रहा कि बिलासपुर के स्वास्थ्य मंत्री भी रहे, तब भी ये बदहाली दूर नहीं हो सकी। बिलासपुर के नए कलेक्टर डाॅ. संजय अलंग ने बुधवार को सिम्स मेडिकल काॅलेज और अस्पताल की व्यवस्था का आंकलन करने पहुंचे। उन्होंने यहां निरीक्षण किया और आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। उम्मीद की जा रही है कि नई सरकार और नए कलेक्टर सिम्स की बदहाली दूर करने के लिए जरूरी पहल करेंगे।

कलेक्टर ने सिम्स अस्पताल में केजुअल्टी वार्ड, ओपीडी, मनोरोग विभाग, आईसीयू, रेडियोलाॅजी विभाग में सीटी स्केन, एक्सरे, सोनोग्राफी कक्ष का हाल देखा। सीटी स्केन मशीन के संबंध में जानकारी ली। लंबे समय से खराब चल रहे मशीन की मरम्मत के निर्देश दिए। कलेक्टर ने आईसीसीयू वार्ड, ब्लड बैंक का निरीक्षण किया। ब्लड बैंक में उपलब्ध उपकरणों की जानकारी ली। एलायजा लैब का अवलोकन किया, जन औषधि केन्द्र में उपलब्ध दवाओ की जानकारी ली।

कलेक्टर ने काॅलेज के मेडिसीन विभाग, लेबोरेटरी, कम्युनिटी मेडिसीन विभाग, म्यूजियम, क्लाॅस रूम, लाइब्रेरी का निरीक्षण किया। लाइब्रेरी का समय वर्तमान में प्रातः 10 बजे से रात्रि 8 बजे तक है। विद्यार्थियों की सुविधा की दृष्टि से कलेक्टर ने लाइब्रेरी को रात्रि 10 बजे खुला रखने के निर्देश दिए।

सिम्स के डीन डाॅ. पात्रा ने कलेक्टर को सिम्स पहुंचने के मार्ग पर किए गए अतिक्रमण हटाने, नाली निर्माण तथा अस्पताल भवन की मरम्मत की आवश्यकता बताई। इस संबंध में कलेक्टर ने आवश्यक करवाई के निर्देश दिए।
निरीक्षण के दौरान डीन डाॅ. डीके. पात्रा, अस्पताल अधीक्षक डाॅ. बीपी. सिंह, उप अधीक्षक डाॅ. लखन सिंह, सिम्स के अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

मेडिकल काॅलेज की विभिन्न समस्याओं से अवगत हुए कलेक्टर-

कलेक्टर डाॅ. संजय अलंग ने सिम्स मेडिकल काॅलेज के अधिकारियों और विभाग प्रमुखों तथा फेकल्टी मेंबर्स की बैठक लेकर काॅलेज की विभिन्न समस्याओं के संबंध में जानकारी ली और उनके निराकरण के लिए दिशा-निर्देश दिये।

बैठक में डीन डाॅ.पात्रा ने मेडिकल काॅलेज में उपलब्ध सुविधाओं तथा समस्याओं से अवगत कराया। चिकित्सा उपकरण, दवाइयों, फेकल्टी व स्टाॅफ की कमी बताई। काॅलेज एवं अस्पताल के नए भवन के लिए कोनी में 40 एकड़ भूमि आबंटित की गई है। जहां स्टेट कैंसर यूनिट, मल्टी सुपरस्पेशलिटी अस्पताल, ट्रामा सेंटर, मेडिकल काॅलेज अस्पताल, फेकल्टी तथा स्टाॅफ के लिए आवास और छात्रावास निर्माण प्रस्तावित है। कलेक्टर ने इस संबंध में विस्तृत जानकारी ली। कलेक्टर ने स्वच्छता जागरुकता को भी इन गतिविधियों में शामिल करने का सुुझाव दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *