भाजपा पर कांग्रेस का तीखा पलटवार, कहा-रमन सिंह ने तो 2012 में खुद किया था सीबीआई को बैन, कांग्रेस सरकार सीबीआई को आवश्यकतानुसार देगी जांच की अनुमति

खबरची, रायपुर/12 जनवरी 2019। पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के सीबीआई बैन वाले बयान पर पलटवार करते हुए प्रदेश कांग्रेस महामंत्री एवं संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, डॉ. रमन सिंह और भाजपा जनता को गुमराह करने के बजाए छत्तीसगढ़ में भाजपा सरकार द्वारा राजपत्र में आदेश जारी कर 2012 में सीबीआई को बिना अनुमति कार्यवाही करने से रोकने का स्पष्ट कारण बताएं।

साढ़े चार साल से केंन्द्र की नरेन्द्र मोदी की सरकार सीबीआई को विपक्षी दल के नेताओं के खिलाफ हथियार की तरह इस्तेमाल कर रही है। पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह की सरकार ने 2012 में ही सीबीआई को छत्तीसगढ़ में बिना अनुमति कार्यवाही करने से प्रतिबंधित किया था। उसी के नोटिफिकेशन को कांग्रेस सरकार ने केंद्र सरकार के पास भेजकर अपनी संवैधानिक जिम्मेदारी को निभाया, तो भाजपा के पेट में मरोड़ उठने लगी और भाजपा अमर्यादित असंतुलित बयानबाजी का सहारा ले रही है।

प्रदेश कांग्रेस कमेटी के महामंत्री एवं संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल निरंतर चुनाव के संकल्पों को पूरा करने काम कर रहे हैं। 20 दिन की सरकार में अब तक 15 से अधिक जनहित में ठोस फैसला लिया है, जिसका लाभ राज्य की जनता को मिल रहा है। किसानों की कर्जा माफी, 2500 रुपया धान का मूल्य, तेंदूपत्ता की मानक दर प्रति बोरा 4000 रू.एवं चरण पादुका खरीदने के लिए नगद राशि, महाविद्यालय में रिक्त पड़े पदों पर भर्ती की प्रक्रिया, 36000 करोड़ का नान घोटाला की एसआईटी जांच, झीरम घाटी नक्सली हमले की एसआईटी जांच की घोषणा मुख्यमंत्री के द्वारा किया गया है। भाजपा शासनकाल में अराजक हो चुके अधिकारियों को दरकिनार कर कर्तव्यनिष्ठ जिम्मेदार अधिकारियों को जन कल्याण कार्यों को फिर निर्बाध तरीके से जन जन तक पहुंचाने के लिए जिम्मेदारी दी गई हैं। कांग्रेस सरकार के जनकल्याणकारी कार्यो से और भाजपा शासनकाल में फैले प्रशासनिक आतंकवाद से राज्य को 20 दिनों में मुक्त कराने से मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की बढ़ती लोकप्रियता से भाजपा भयभीत है।

विधानसभा चुनाव में भाजपा को मिली करारी हार और कांग्रेस को मिले जनादेश से भाजपा का नेतृत्व बौखलाहट में अपना मानसिक संतुलन खो बैठा है। आने वाले लोकसभा चुनाव में छत्तीसगढ़ में और पूरे देश में भाजपा को अभी से बुरी तरह से पराजय स्पष्ट दिखाई दे रही है। बौखलाहट में भाजपा के नेता कांग्रेस सरकार द्वारा किए जा रहे जन कल्याणकारी एवं राज्य हित के फैसलों पर मीन मेख निकालने में लगे हैं।

प्रदेश कांग्रेस कमेटी के महामंत्री एवं संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि कांग्रेस पार्टी ने सीबीआई को बैन नहीं किया है, बल्कि सीबीआई को जिस विषय में जांच करनी है, उसके लिए राज्य सरकार से अनुमति लेने के लिए कहां गया है। सीबीआई को राज्य में किस अधिकार पर काम करना है, इसके लिए संविधान में व्यवस्था है, उसी का पालन यहां पर करवाया जा रहा है।

शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा, कि भाजपा शासनकाल में सीबीआई के जांच के दौरान सीबीआई के अधिकारी पीड़ितों को प्रताड़ित कर अवैध वसूली में लिप्त पाए गए हैं।

त्रिवेदी ने कहा, कि राज्य की भाजपा सरकार इन तीनों घटनाक्रम के बाद भी राज्य के नागरिकों की सुरक्षा के प्रति अपनी संवैधानिक जिम्मेदारी से दूर भागती रही है। कांग्रेस की सरकार का स्पष्ट मानना है, राज्य के नागरिकों की सुरक्षा की जिम्मेदारी राज्य सरकार की है और किसी के साथ भी अन्याय ना हो और जिनके साथ भी अन्याय हुआ उनको न्याय मिले, इसकी भी जिम्मेदारी राज्य सरकार की होती है। जहां पर छत्तीसगढ़ की सरकार को लगता है कि सीबीआई जांच की आवश्यकता है, वहां सीबीआई जांच भी कराई जाएगी। सीबीआई को किसी विषय में जांच करनी है, तो सीबीआई इसकी छत्तीसगढ़ सरकार से अनुमति लेकर निष्पक्ष जांच करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *