बाइक चोर गिरोह का पर्दाफाश: 10 आरोपी गिरफ्तार, 9 गाड़ियां जब्त

बिलासपुर। पुलिस ने मोटर सायकल चोर गिरोह का पर्दाफाश करते हुए 10 लोगों को गिरफ्तार किया है। इनमें 2 नाबालिग भी हैं। आरोपियों की निशानदेही पर 9 मोटरसाइकिलें बरामद की गई हैं।

लगातार मोटर सायकल चोरी की वारदात की शिकायत को पुलिस कप्तान अभिषेक मीणा ने गंभीरता से लेते हुए सभी थानों को आरोपियों पर नजर रखने को कहा गया। इसके अलावा पुलिस कप्तान ने जिले के सभी थानेदारों से पिछले दस सालों में मोटरसायकलों पर किए चालानी कार्रवाई की जानकारी भी मांगी। पुलिस कप्तान ने एेसे आरोपियों का भी पता लगाने को कहा जिनका संंबध कभी मोटरसायकल चोरी के मामले में शामिल हो। अभिषेक मीणा ने चोरों को पकड़ने की जिम्मेदारी टीम बनाकर आईपीएस विजय अग्रवाल और डीएसपी प्रवीण राय को दी।

जांच पड़ताल के दौरान साइबर सेल और तारबाहर पुलिस से आलाधिकारियों को जानकारी मिली कि दो लड़के चोरी की पैशन मोटरसायकल बेचने की फिराक में घूम रहे हैं। अधिकारियों ने तत्काल कार्रवाई करते हुए दोनों आरोपियों को घेराबन्दी कर धर दबोचा। पूछताछ के दौरान आरोपी ने अपना नाम गोपी देवांगन बताया। गोपी ने बताया कि वह कोटा थाना क्षेत्र का रहने वाला है। मोटरसायकल को रेलवे स्टेशन से चोरी किया है। इसके अलावा उसने यह भी जानकारी दी कि वह अपने साथियों के साथ मिलकर बिलासपुर स्टेशन समेत कोटा रेलवे स्टेशन,से लगातार मोटर सायकल की चोरी की। अभी तक साथियों के साथ मिलकर 9 मोटरसायकल बेच चुका है। 10 वां मोटर सायकल बेचने की फिराक में था। पुलिस ने बताया कि गोपी के साथ हिरासत में लिया गया दूसरा आरोपी नाबालिग है।

पुलिस के अनुसार दोनों आरोपियों की निशानदेही पर ग्राहकों के साथ बेची गयी मोटरसायकलों को अलग अलग थाना क्षेत्रों से जब्त कर लिया गया है।

कब कब कहां से चोरी

पूछताछ के दौरान गोपी देवांगन ने बताया कि तारबाहर थाना क्षेत्र से 10 सितम्बर 2018 को रेलवे स्टेशन सेक्शन इंजीनियर आफिस के सामने मोटर सायकल की चोरी की। मोटरसायकल को तीस हजार में बेचा। इसी तरह 17 सितम्बर 2018 को एटीएम चौक तारबाहर से मोटरसायकल पार कर तीस हजार का सौदा किया। इस दौरान चोरी में नाबालिग भी शामिल था। 2 अक्टूबर 2018 को रेलवे स्टेशन जीरो गेट के पास से चुरायी गयी मोटर सायकल को 25 हजार में बेचा।

आरोपी गोपी ऊर्फ गोविन्दा देवांगन ने बताया कि कोटा रेलवे स्टेशन से साथियों के साथ मिलकर सीबीजेड मोटरसायकल चोरी कर उत्तम सिंह को 40 हजार में बेच दिया था, इसमें भी नाबालिग ने साथ दिया। इसके अलावा कोटा रेलवे स्टेशन से ही काले रंग की सीबीजेड को पार कर 40 हजार में बेचा गया। कोनी थाना क्षेत्र से 17 जून 2018 को एक्टिवा चोरी कर कोटा निवासी बलदेव निर्मलकर को बेचा। सरकन्डा थाना क्षेत्र से 14 जुलाई को चांटीडीह शराब भठ्ठी के सामने से स्पेलन्डर को पार किया। स्प्लेन्डर को मुंंगेली निवासी निलेश टंडन को तीस हजार रूपए में बेचा। नेहरू चौक सिविल लाइन थाना क्षेत्र में सीडी डिलक्स की चोरी की।
गोपी और नाबालिग ने पुलिस को बताया कि पांच छः महीने पहले सरकंडा के चांटीडीह शराब भठ्ठी से फिर से डीलक्स मोटर सायकल को पार कर तीस हजार रूपए में सौदा किया। सरकण्डा के अशोक नगर तिराहे डीलक्स मोटर सायकल की चोरी कर तराई कोटा निवासी संतोष बंजारे को पांच हजार में बेचा।

ये हैं आरोपी:,

मोटरसायकल चोर गिरोह में गोपी ऊर्फ गोविन्दा देवांगन पिता राजेन्द्र देवांगन उम्र 19 साल करगी रोड कोटा का रहने वाला है। दूसरे आरोपी का नाम सोमराज पिता मंगत राम उमर् 32 साल करहीपारा निरतु का निवासी है। दो अन्य गिरफ्तार गिए मोटर सायकल चोरी के आरोपी नाबालिग हैं।

6 खरीदार पकड़ाए:

उत्तम सिंंह पिता तारन सिंह निवासी कोटा,संतोष कुमार बंजारे पिता साधेलाल सतनामी निवासी कलातराई और बलदेव निर्मलकर पिता संतोष निर्मलकर निवासी खुरदुर कोटा का रहने वाला है। बाबू लाल मंगेश्कर पिता रामसहाय मंगेश्कर मोंहदी थाना कोटा में रहता है। नितेश कुमार टंडन पिता दौलतराम टण्डन निवासी गोईन्दी जिला मुंगेली का रहने वाला है। छठवां खरीदार नाबालिग बताया जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed