निगम आयुक्त वार्ड में निकले तो खुली पोल, 84 सफाई कर्मचारी मिले नदारद, सभी का वेतन काटने के निर्देश, दो दिन में व्यवस्था नहीं सुधरी तो ठेका हो सकता है निरस्त

0 ठेकेदार को नोटिस

0 ठेकेदार व लायन कंपनी को दो दिन के अंदर

व्यवस्था सुधारने के निर्देश

खबरची, बिलासपुर। निगम आयुक्त सुबह वार्डो में सफाई का हाल देखने निकले तो दंग रह गए। सफाई तो दूर, कर्मचारी ही गायब थे। वो भी एक-दो नहीं, बल्कि 84 कर्मचारी नदारद थे। एकबारगी तो आयुक्त ने अपना माथा पकड़ लिया। फिर अगले ही कड़ा रुख अख्तियार करते हुए सभी नदारद कर्मचारियों का वेतन काटने के निर्देश दिए।

इतना ही नहीं, बल्कि सफाई करने वाली कंपनी और ठेकेदार को साफ लहजे में दो दिन के भीतर व्यवस्था सुधारने के कड़े निर्देश दिए। अन्यथा ठेका निरस्त करने की चेतावनी दी है।

निगम आयुक्त प्रभाकर पांडेय ने हमर बिलासपुर सुघ्घर बिलासपुर अभियान के तहत मंगलवार की सुबह वार्ड क्रमांक 9 जरहाभाठा क्षेत्र का निरीक्षण किया। इस दौरान क्षेत्र में कर्मचारियों की अनुपस्थिति पर नाराजगी जाहिर करते हुए ठेकेदार को नोटिस जारी कर दो दिनों के अंदर व्यवस्था सुधारने की बात कही। शहर की सफाई व्यवस्था को ठीक करने के लिए हमर बिलासपुर सुघ्घर बिलासपुर अभियान चलाया जा रहा है। इसकी मानिटरिंग खूद निगम आयुक्त कर रहे हैं।

ऐसे खुली पोल:

निरीक्षण के दौरान आयुक्त ने गली के दोनों ओर नालियों की सफाई करने के निर्देश दिए। प्रभारी अधिकारी से सफाई कर्मचारियों की उपस्थिति के बारे में जानकारी ली। तब सभी कर्मचारियों की अनुपस्थित रहने की बात सामने आई। इस पर आयुक्त ने ठेकेदार संदीप राय को नोटिस जारी कर व्यवस्था सुधारने की बात कही। इसके बाद भी व्यवस्था नहीं सुधरती और कर्मचारी अनुपस्थित रहते हैं तो ठेका निरस्त करने के निर्देश स्वास्थ्य अधिकारी डा. ओंकार शर्मा को दिए। निरीक्षण के दौरान क्षेत्र के पार्षद काशीराम रात्रे, एई सुरेश बरूआ, अनुपम तिवारी, जलविभाग प्रभारी बृजपुरिया सहित निगम के अधिकारी व कर्मचारी उपस्थित थे।

करीब 10 हजार मीटर नाली की सफाई:
अभियान के दूसरे दिन सभी वार्डों को मिलाकर करीब 10 हजार मीटर नाली की सफाई कराई गई। इस दौरान शहर के 62 जगहों की नाले व नालियों की सफाई की गई। सफाई से करीब 12 ट्रेक्टर ट्राली मलबा निकाला गया।

मच्छर उन्मूलन के लिए किया फॉगिंग, बना हर रोज का शेड्यूल:

नदी किनारे क्षेत्रों में मच्छर का प्रकोप बढ़ने की लगातर शिकायत मिल रही थी। इस पर कमिश्नर पाण्डेय ने लार्वा कंट्रोल सहित फागिंग करने कार्ययोजना बनाने के निर्देश दिए गए थे। मंगलवार को नदी किनारे के क्षेत्रों में फागिंग मशीन से दवा का छिड़काव किया गया। इसी तरह लार्वा कंट्रोल व फागिंग के लिए कार्ययोजना तैयार की गई। इसमें 13 फरवरी को वार्ड क्रमांक 3,13,23,33,43,53, 14 फरवरी को वार्ड क्रमांक 4,14,24,34,44,54, 15 फरवरी को 6,16,26,36,46,56 को लार्वा कंट्रोल दवा छिड़काव के साथ फागिंग किए जाएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed