कलेक्टर ने ली राजनीतिक दलों की बैठक, जानिए क्या कहा और कैसा होगा चुनाव कार्यक्रम…

0 कलेक्टर ने राजनैतिक दलों के प्रतिनिधियों के साथ की बैठ

0 कहा, आदर्श आचार संहिता का करें पालन

बिलासपुर 11 मार्च 2019. कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी डॉ. संजय अलंग ने सोमवार को यहां मंथन सभाकक्ष में राजनैतिक दलों के प्रतिनिधियों के साथ बैठक की। बैठक में डॉ अलंग ने लोकसभा निर्वाचन 2019 के कार्यक्रम की विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने बताया कि बिलासपुर लोकसभा क्षेत्र के लिये निर्वाचन की अधिसूचना का प्रकाशन 28 मार्च को किया जाएगा। 4 अप्रैल 2019 तक नमांकन भरे जाएंगे। नाम निर्देशन पत्रों की संवीक्षा 5 अप्रैल को किया जाएगा। नाम निर्देशन पत्रों की वापसी की 8 अप्रैल को की जाएगी। बिलासपुर लोकसभा क्षेत्र के लिये 23 अप्रैल 2019 को मत डाले जाएंगे। वहीं 23 मई 2019 को मतगणना की जाएगी।

कलेक्टर ने बताया कि मतदाता नामांकन की अंतिम तिथि तक अपना नाम मतदाता सूची में अंकित करा सकते हैं। अंतिम मतदाता सूची सभी मान्यता प्राप्त राजनैतिक दलों को प्रदाय की जा चुकी है। प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र में 5 संगवारी मतदान केंद्र( महिला मतदान केंद्र) स्थापित किये जाएंगे। प्रत्येक मतदान केंद्र में मतदाता सहायता केंद्र स्थापित किया जाएगा। किसी प्रकार के ध्वनि विस्तारक यंत्रों का प्रयोग रात्रि 10 बजे से सुबह 6 बजे के मध्य प्रतिबंधित रहेगा। सरकारी, गैर सरकारी भवनों तथा निजी भवनों में भवन मालिक की अनुमति के बिना निर्वाचन के प्रचार के दौरान राजनीतिक दलों के कार्यकर्ता अथवा प्रत्याशी निर्वाचन संबंधी पोस्टर लगाना व नारा लिखने की कार्यवाही प्रतिबंधित रहेगी। राजनैतिक दलों को प्रचार-प्रसार के तहत स्कूल ग्राउंड के उपयोग के लिये स्कूल, कॉलेज के प्रबंधक की अनुशंसा के बाद संबंधित अनुविभागीय अधिकारी राजस्व से अनुमति लेना आवश्यक होगी। बिना अनुमति के रैली , सभा अथवा जुलूस का आयोजन नहीं किया जा सकेगा। आम नागरिकों के शांतिपूर्ण जीवन की अपेक्षा हेतु कोलाहल अधिनियम का पालन आवश्यक होगा। रेस्ट हाउस एवं गेस्ट हाउस का एलाटमेंट चार्टड रहेगा। भारत निर्वाचन आयोग द्वारा भारतीय सेना के रक्षा कार्मिकों के फोटोग्राफ्स का प्रयोग राजनैतिक विज्ञापनों में न करने से संबंधित निर्देश जारी किये गये हैं।

बैठक में मौजूद एसपी श्री अभिषेक मीणा ने राजनैतिक दलों के प्रतिनिधियों से कहा कि ऐसा कोई कार्य न करें कि किसी सामाजिक, धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचे। प्रचार के दौरान किसी पर निजी टिप्पणी न करें। इसके साथ ही धार्मिक स्थलों में किसी भी प्रकार का प्रचार-प्रसार प्रतिबंधित रहेगा।

बैठक में जिला पंचायत सीईओ रीतेश अग्रवाल, सहायक कलेक्टर कुणाल दुदावत, अपर कलेक्टर बी एस उइके, उप जिला निर्वाचन अधिकारी सुमित अग्रवाल सहित विभिन्न राजनैतिक दलों के प्रतिनिधि मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *