पूर्व मंत्री केदार कश्यप के बयान पर कांग्रेस का पलटवार: “केदार कश्यप को पाक से चुनाव लड़ने की सलाह पाक के शुभचिंतक नरेंद्र मोदी को देना चाहिए”

0 भाजपा देश के युवाओं को बताए कि आजादी की लड़ाई में आरएसएस का क्या योगदान? सावरकर ने अंग्रेजो से बार-बार माफी क्यो मांगी?

रायपुर/25 मार्च 2019। पूर्व मंत्री केदार कश्यप के बयान की कांग्रेस ने कड़ी शब्दो में निंदा की है। प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि पूर्व मंत्री केदार कश्यप को पाक से चुनाव लड़ने की सलाह पाक के शुभचिंतक नरेंद्र मोदी को देना चाहिए।

आरएसएस भाजपा जिसका आजादी की लड़ाई में शून्य भर का योगदान नही है। जिन पर अंग्रेजो के लिये मुखबिरी करने का आरोप पूरा देश लगाता है। जिनके नेता सावरकर अंग्रेजो से माफी मांगते रहे। भाजपा के लौहपुरुष माने जाने वाले आडवाणी पाकिस्तान जाते हैं। जिन्ना के मजार पर फूल चढ़ाकर जिन्ना को महान बताते है। मोदी पाकिस्तान जाकर हलवा खाते हैं। शाल भेंट में लाते हैं। भाजपा वेद प्रकाश वैदिक को पाक भेजकर आतंकी हाफिज सईद से मीटिंग करती है। भाजपा के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष मुरली मनोहर जोशी हाफिज सईद को श्री कर सम्बोधित करते हैं। कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद हाफिज जी कहते हैं। भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा अफजल गुरु जी कह कर सम्मान देते हैं। ऐसे भाजपा नेताओं के राष्ट्रवाद का चोला उतर गया है, जनता भाजपा की चाल, चरित्र, चेहरा को पहचान गई है।

ऐसे में आरएसएस भाजपा के केदार कश्यप कौन होते हैं, ये तय करने वाले कि देश में कौन रहेगा कौन नही रहेगा? देश में किसको रहना है इसका अधिकार बाबा साहब भीमराव अंबेडक द्वारा बनाये गए मजबूत संविधान ने दिया है।

एक अरब तैतीस करोड़ जनता का अपमान

प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि पुलवामा में आतंकी हमले के बाद पूरा देश पाक के खिलाफ आक्रोशित है। पाक को नेस्तनाबूत करने तैयार है। ऐसे समय में भाजपा सांसद दल के नेता मोदी पाकिस्तान को शुभकामनाये देते हैं, ये बडी शर्म की बात है। ये एक अरब तैतीस करोड़ जनता का अपमान है। पाक आतंकी को खत्म करने लड़ाई लड़ रहे हमारे सेना का मनोबल तोड़ने वाली बात है। भाजपा को देश के युवाओ को बताना चाहिये आजादी की लड़ाई में उनके पितृ संगठन आरएसएस का क्या योगदान है ? सावरकर ने अंग्रेजो से बार बार माफी क्यो मांगी?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed