जांच में खराब निकली रायपुर के प्रसिद्ध दुकान की मिठाई, मिले सब्जियों के टुकड़े… बालू के कण और फाइबर… अब 390 रुपए की मिठाई के बदले दुकानदार देगा ग्राहक को 7 हजार रुपए हर्जाना, उपभोक्ता फोरम ने दिया आदेश…

रायपुर, 29 मार्च। रायपुर की एक प्रसिद्ध दुकान में सब स्टैंडर्ड मिठाई धड़ल्ले से बेची जा रही थी। एक ग्राहक को यह बेस्वाद लगी तो उसने उसी दुकान से दोबारा बिल सहित गिफ्ट पैक मिठाई खरीदकर उसे सरकारी लैब में जांच के लिए दे दिया। ग्राहक की शिकायत सही निकली। फिर उसने जांच रिपोर्ट के आधार पर जिला उपभोक्ता फोरम रायपुर में मामला दायर कर दिया। फोरम अध्यक्ष न्यायाधीश उत्तरा कुमार कश्यप व सदस्य प्रिया अग्रवाल की न्यायपीठ ने दुकानदार को आदेश दिया है कि वह परिवादी ग्राहक को 45 दिन के भीतर मिठाई की कीमत 390 रुपए 9 फीसदी ब्याज (23-08-2016 से अदायगी तारीख तक) लौटाए। साथ ही 5000 रु. मानसिक क्षतिपूर्ति और 2000 रु. वाद व्यय का भुगतान करे।

प्रार्थी ग्राहक संजीव अग्रवाल (48) देवेंद्र नगर रायपुर के रहने वाले हैं। उन्होंने 16 अगस्त 2016 को जेल रोड शास्त्री मार्केट स्थित दुकान नैवेद्य फूड प्रोडक्ट से 1077 रु. में मिठाई खरीदी। इसका स्वाद खराब था, लेकिन इसमें से कुछ मिठाई इस्तेमाल कर चुके थे, इसलिए वे इसे लेकर कोई कार्रवाई नहीं कर सके।

इसके बाद उन्होंने उसी दुकान से 23 अगस्त 2016 को दोबारा अंजीर पास्ता रोल खरीदा। इसे गिफ्ट पैक करवाकर बाकायदा इसकी रसीद भी ली। फिर रायपुर कालीबाड़ी स्थित राज्य खाद्य पतिक्षण प्रयोगशाला में विधिवत आवेदन प्रस्तुत कर इसे जांच के लिए दिया था।

3 सितंबर 2016 को मिली जांच रिपोर्ट में स्पष्ट हुआ कि नैवेद्य फूड प्रोडक्ट की मिठाई सबस्टैंडर्ड और खाने योग्य नहीं है।

ग्राहक ने इस मामले में सुरेश पारख पिता एसएन पारख और दौलतचंद पिता किशोरचंद प्रोपराइटर नैवेद्य फूड प्रोडक्ट के खिलाफ जिला उपभोक्ता फोरम में परिवाद दायर किया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed