पूर्व सीएम डॉ. रमन के बेटे अभिषेक सिंह समेत 20 लोगों पर जालसाजी का अपराध दर्ज

0 कोर्ट के निर्देश पर कार्रवाई

रायपुर। चिटफंड कंपनी में निवेश के लिए प्रोत्साहन करने के आरोप में पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के बेटे व राजनांदगांव के पूर्व सांसद अभिषेक सिंह और राजनांदगांव के महापौर मधुसूदन यादव पर धोखाधड़ी व जालसाजी का अपराध पंजीबद्ध किया गया है।

मामले के मुताबिक, सांसद रहते अभिषेक सिंह ने राजनांदगांव में अनमोल चिटफंड कंपनी के कार्यालय का उद्घाटन किया, लोगो को निवेश करने प्रोत्साहित किया जिसके बाद लोगो ने करोड़ो कंपनी में लगाये। उसके बाद कंपनी दफ्तर में ताला लगा फरार हो गई। धोखाधड़ी के शिकार निवेशकों ने पुलिस में शिकायत की पर पिता के मुख्यमंत्री होनेे के चलते पुलिस ने शिकायतकर्ताओं को भगा दिया।

इसे लेकर लुंड्रा थाना क्षेत्र के ग्राम सुमेरसिंह निवासी प्रेमसागर गुप्ता ने कोर्ट में याचिका दायर की। तब कोर्ट के निर्देश पर पुलिस ने धोखाधड़ी और जालसाजी के तहत अपराध दर्ज किया है।

20 लोगो पर एफआईआर
कोर्ट के निर्देश पर अभिषेक सिंह, राजनांदगांव के महापौर मधुसूदन यादव समेत 20 लोगो पर अपराध दर्ज किया गया है जिसमे मोहम्मद् जावेद मेमन, सुपेरा मेमन,उमर मेमन, फातिमा बानो शामिल है।

निवेशकों के 100 करोडो रुपये दबाये-
अनमोल चिटफंड कंपनी मोहम्मद जावेद मेमन, सुपेरा मेमन और उमर मेमन ने शुरू की। सांसद रहते अभिषेक सिंह और डॉ रमन सिंह की पत्नी विना सिंह से कार्यालय का उद्धघाटन करवाया। जिसका शहर में बड़े बड़े पोस्टर छपवाया गया, जिसका सीधा असर निवेशकों में दिलो दिमाग पर हुआ और करोडो रुपये कुछ ही दिनों में जमा हो गए, जिसके बाद मेमन परिवार फरार हो गया, जिसे बाद में सरकार के दबाव में पुलिस ने गिरफ्तार किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *