मुख्यमंत्री के ड्रीम प्रोजेक्ट का वन विभाग में काम शुरू , नरवा विकास योजना के लिए कर्मचारियों की ट्रेनिग शुरू,,,

बिलासपुर आज दिनांक 9 से 11 अक्टूबर तक वन चेतना केन्द्र संकरी जिला बिलासपुर में सरगुजा एवं बिलासपुर बृत के दोनों मुख्य वन संरक्षक, समस्त वनमण्डलाधिकारी, उपवनमण्डलाधिकारी, परिक्षेत्र अधिकारियों के साथ वनमण्डल में नरवा विकास योजना बनाने मे संलग्न समस्त कम्प्यूटर आपरेटरों का तीन दिवसीय कार्यशाला का शुभारंभ अपर प्रधान मुख्य वनसंरक्षक अनुप श्रीवास्तव अरण्य भवन नवा रायपुर की उपस्थिति में सुबह 10.00 बजे किया गया। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री माननीय भूपेश बघेल के छत्तीसगढ़ के चार चिन्हारी, नरवा, गरूवा, घुरवा आऊ बाड़ी ,, एला बचाना है संगवारी का नारा छत्तीसगढ़ के समग्र विकास हेतू दिया गया है, जिसके तहत छत्तीसगढ़ सभी नदी नालों का ब्यापक उपचार योजना बनाने हेतु आवश्यक निर्देश व कुछ मार्गदर्शी उपचार योजना बताई गई है। इसी तारतम्य में नदी नालों की उद्गम से अंत जहां वे बड़ी नदियों में मिलती है वहां तक का ब्यापक उपचार प्लान जिसके तहत वर्षा का पानी भूमि में रिचार्ज होने से लेकर भूमि कटाव को रोकने के प्रबंध से लेकर सभी नदी नालों की उपचार वैज्ञानिक तरीकों से इस तरह से की जावे की उनमें बारह मास पानी की बहाव बना रहे इस दिशा में योजना बनाने हेतु आई सी आर जी के तीन एक्सपर्ट मास्टर ट्रेनर सर्व विभाष चौबे, सुरेन्द्र तिवारी एवं नितेश गोपचे अंबिकापुर से बिलासपुर आए हुए हैं, उनके द्वारा नरवा की सर्वेक्षण कर डी.पी.आर. (डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट) बनाने से लेकर क्रियान्वयन कैसे की जावे की पूर्ण प्रशिक्षण वन चेतना भवन संकरी बिलासपुर में सरगुजा एवं बिलासपुर बृत के लगभग 150 अधिकारियों एवं कर्मचारियों को दिनांक 11 अक्टूबर 2019 तक दी जावेगी।
आज शुभारंभ अभिभाषण के तहत बिलासपुर वृत्त के मुख्य वन संरक्षकअनिल सोनी (भा.व.से.) के द्वारा इस तीन दिवसीय कार्यशाला की रूपरेखा पर प्रकाश डाला एवं इस कार्यशाला में उपस्थित अपर प्रधान मुख्य वन संरक्षक अनूप श्रीवास्तव के द्वारा इसकी आवश्यकता एवं महत्ता पर विस्तृत उद्गार ब्यक्त किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed