डॉक्टर अलका रहालकर ने कल ही अपना जन्मदिन मनाया और उसके बाद, देर रात को एनेस्थीसिया का हाई डोज इंजेक्शन खुद को लगाकर कर ली आत्महत्या

सुसाइड नोट में डॉ अलका रहालकर ने लिखा : मैं अपने जीवन से संतुष्ट हूं…मेरा पोस्टमार्टम न किया जाए ।

आत्महत्या के कारणों का पता लगाने में जुटी है पुलिस

बिलासपुर-शहर के विख्यात चिकित्सक एवं सर्जन तथा कैंसर विशेषज्ञ, डॉक्टर चंद्रशेखर रहालकर की धर्मपत्नी डॉ अलका रहालकर ने बीती देर रात हाई डोज एनेस्थेसिया लेकर आत्महत्या कर ली है । पुलिस ने डॉक्टर अलका रहालकर का सुसाइड नोट बरामद कर लिया है।सिविल लाइन थाना प्रभारी सुरेंद्र स्वर्णकार ने बताया कि डॉक्टर अलका ने अपने बेडरूम में देर रात आत्महत्या की है। मौत हाई डोज एनेस्थीसिया से हुई है। उन्होंने स्वयं हाई डोज एनेस्थीसिया इंजेक्शन लगाया है।थाना प्रभारी ने जानकारी दी कि डॉक्टर अलका ने अपने सुसाइड नोट में लिखा है कि… “मैं अपने जीवन से पूरी तरह संतुष्ट हूं।और होशोहवास में आत्महत्या कर रही हुं। इसके लिए कोई जिम्मेदार नही है। लेकिन डॉ अलका ने आत्महत्या का कारण नही लिखा है। थाना प्रभारी ने बताया कि डॉक्टर अलका के पति डॉक्टर चंद्रशेखर रहालकर पिछले 2 साल से हार्ट की परेशानियों से गुजर रहे हैं। उनका इलाज अपोलो और रायपुर में चल रहा है। दोनों पति पत्नी एक दिन पहले ही रायपुर से इलाज के बाद घर लौटे है। कल शुक्रवार को डॉक्टर अलका ने परिवार के साथ अपना 60 वां जन्मदिन मनाया। इसके बाद परिवार के सभी अपने अपने कमरे में चले गए। फिर दोनों पति पत्नी भी अपने अपने कमरे में गए। घर के सदस्यों ने बताया डॉक्टर अलका ने जन्मदिन पर सिंगापुर में रह रहे बेटे को कॉल किया।लेकिन बातचीत नही हो पाई। इसके बाद उन्होंने रात को अकेले में कमरे में खुद हाई डोज एनेस्थेसिया लेकर आत्महत्या की। सुसाइड नोट में डॉ अलका राहलकर ने लिखा है कि उनका पोस्टमार्टम नही किया जाय।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed