साइबर मितान के माध्यम से साइबर क्राइम को रोकने और जनता को जागरूक करने पुलिस विभाग की नई पहल ” साइबर मितान “

बिलासपुर कोरोना काल के दैरान बहुत ज्यादा नेट बैंकिंग और ऑनलाइन खरीदी की वजह से साइबर अपराध में भी बढ़ोतरी हुई है। लगातार साइबर अपराध को नियंत्रित करने बिलासपुर पुलिस ने अभिनव पहल की है ।इसके तहत आम लोगों को साइबर अपराधों से वाकिफ कराते हुए उन्हें जागरूक करने की गरज से विशेष अभियान का आगाज किया गया। जल संसाधन विभाग के प्रार्थना सभा कक्ष से आरंभ इस अभियान के तहत आगामी 7 दिसंबर तक जिले के सभी थाना क्षेत्रों में नोडल अधिकारी के नेतृत्व में 25-25 सदस्यों की टीम लोगों को साइबर अपराधों के प्रति जागरूक करेगी। इससे पहले जिस तरह से लॉकडाउन के दौरान एसपीओ की मदद ली गई, उन्हीं एसपीओ को साइबर मितान बनाकर इस मकसद के लिए उपयोग किया जाएगा । प्रशिक्षित साइबर मितान आगामी दिनों में शहर के अलावा ग्रामीण इलाकों में भी पहुंच कर लोगों को जागरूक करेंगे । पूरे देश भर के साथ बिलासपुर जिले में भी साइबर अपराधों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। शायद ही ऐसा कोई दिन जाता है, जब किसी थाने में साइबर अपराध से संबंधित कोई अपराध दर्ज नहीं होता । इनमें से अधिकांश मामलों में लोगों में जागरूकता की कमी की वजह से ही वे साइबर ठगों कि फरेब का शिकार हो जाते हैं ।हालांकि पुलिस बार-बार बचाव के उपाय भी बताती है लेकिन जागरूकता की कमी से लोग ऐन वक्त पर नादानी कर बैठते हैं। इसी सूरते हाल को देखते हुए अब साइबर मितान की मदद से लोगों को जागरूक करने का फैसला लिया गया है । साइबर मितान एक तरफ जहां मोबाइल के माध्यम से लोगों से संपर्क करेंगे तो वही व्यक्तिगत संपर्क द्वारा भी साइबर मितान अपने मकसद को अंजाम देंगे । वैसे तो 2 लाख साइबर मितान बनाने का लक्ष्य तय किया गया है लेकिन फिलहाल 100 के करीब साइबर मितान अपनी जिम्मेदारियों के निर्वहन के लिए पूरी तरह तैयार है। बिलासपुर पुलिस के साइबर एक्सपर्ट और कोतवाली थाना प्रभारी कलीम खान के नेतृत्व में यह सभी प्रशिक्षित हो रहे हैं। अलग-अलग थाना क्षेत्रों में यही प्रशिक्षित वॉलिंटियर आगामी 3 महीनों में अपना लक्ष्य हासिल करेंगे । इस अभियान का आगाज करते हुए प्रार्थना सभा कक्ष में एक शार्ट फिल्म का भी प्रदर्शन किया गया। वहीं इससे पहले कोरोना संक्रमण काल के दौरान कोरोना वॉरियर्स के तौर पर काम करने वाले पत्रकारों का भी सम्मान पुलिस विभाग द्वारा किया गया । पत्रकारों को सम्मानित करते हुए कहा गया कि पुलिस प्रशासन और आम लोगों को जताई गई कि साइबर अपराधों के प्रति आम लोगों को जागरूक करने के इस महाअभियान में भी मीडिया सहयोगी बनेगी।

You may have missed