अपने आपराधिक रिकॉर्ड छिपा नहीं सकते प्रत्याशी, अखबार में तीन बार प्रकाशित करवाकर आम जनता को बताना होगा, न्यूज चैनल पर भी जानकारी देना जरूरी

0 जिला निर्वाचन अधिकारी ने ली बिलासपुर विधानसभा के प्रत्याशियों की बैठक

0 आदर्श आचार संहिता का पालन करने के निर्देश

बिलासपुर 6 नवंबर 2018। अब प्रत्याशी अपने आपराधिक रिकॉर्ड छिपा नहीं सकेंगे।निर्वाचन आयोग के नियमों के मुताबिक जिन प्रत्याशियों के खिलाफ ऐसे मामले चल रहे हैं, उन्हें आम जनता-मतदाताओं को इससे अवगत कराना होगा। इसके लिए सर्वाधिक प्रसारित समाचार पत्रों के जरिए कम से कम 3 बार अपने अपराधिक रिकॉर्ड की जानकारी प्रकाशित करवाना जरूरी है। इसके साथ ही सर्वाधिक दर्शक संख्या वाले न्यूज चैनल के माध्यम से भी अपने आपराधिक रिकॉर्ड बताने होंगे। मंगलवार दोपहर जिला निर्वाचन अधिकारी पी दयानंद ने मंथन सभाकक्ष में बिलासपुर विधानसभा के प्रत्याशियों की बैठक लेकर चुनाव प्रचार के दौरान आदर्श आचरण संहिता का पालन करने के निर्देश दिए।

निर्वाचन अधिकारी ने ये निर्देश भी दिए :-

0 विज्ञापन के पूर्व प्रमाणन जरूरी:- प्रत्याशियों को चुनाव प्रचार में इलेक्ट्रानिक मीडिया में विज्ञापन देने के पूर्व विज्ञापन का पूर्व प्रमाणन कराना आवश्यक होगा।

0 सभा के लिए 48 घंटे पहले अनुमति जरूरी :- कोई सभा या कार्यक्रम करना चाहते हैं, उन्हें कम से कम 48 घंटे पहले सिंगल विंडो के माध्यम से अनुमति लेनी होगी। अनुमति लेने के लिये सुगम एप का ऑनलाइन उपयोग भी किया जा सकता है।

0 खर्च की सीमा 28 लाख :- प्रत्येक प्रत्याशी के लिये 28 लाख रुपए व्यय सीमा रखी गई है। इसका पालन सभी को करना आवश्यक है। व्यय पुस्तिका में प्रत्येक व्यय को दर्ज कर प्रस्तुत करना है। व्यय पर्यवेक्षक भी इसका निरीक्षण करेंगे।

0 प्रचार सामग्री के लिए ये नियम :- प्रत्याशी प्रचार के लिए बिना अनुमति के होर्डिंग्स बैनर इत्यादि नहीं लगा सकेंगे। सार्वजनिक संपत्ति में प्रचार सामग्री लगाना पूर्णता प्रतिबंधित है। निजी संपत्ति में प्रचार सामग्री लगाने के लिए मालिक की लिखित अनुमति आवश्यक है।

0 रात 10 से सुबह 6 बजे तक प्रचार प्रतिबंधित:- प्रत्याशी रात 10 से सुबह 6 तक प्रचार नहीं कर सकेंगे। बैठक में बिलासपुर विधानसभा की सामान्य पर्यवेक्षक सुधा वर्मा ने भी दिशा-निर्देश दिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *