नशे के लोकल सौदागरों पर करवाई कर पुलिस थपथपा रही अपनी पीठ , मुख्य सौदागर की पुलिस को नही जानकारी,,,

बिलासपुर शहर में लगातार हो रहे प्रतिबंधित नशीली दवाइयों के जखीरे को पकड़ने में सिविल लाइन पुलिस को सफलता मिली है । पुलिस ने नशे के समान के साथ तीन आरोपियों को पकड़ा है । आरोपियो से पुलिस ने लाखो के नशीली इंजेक्शन , टेबलेट और सिरप बरामद किए है ।

बिलासपुर पुलिस समय समय पर शहर में अवैध रूप से प्रतिबंधित नशीली दवाइयों का जखीरा पकड़ती है और अपनी पीठ थपथपा लेती है , लेकिन यह नशीली दवाइयों का जखीरा कहां से आता है इसकी जानकारी पुलिस को नहीं लग पाती । इन प्रतिबंधित नशीली दवाइयों का जखीरा कौन लाता है ? कहां बनता है ?और इसकी सप्लाई कहां के लिए होती है इन सब बातों से बेखबर पुलिस केवल लोकल सौदागरओं पर कार्रवाई कर अपने कर्तव्यों की इतिश्री कर लेती है, यदि पुलिस चाहे तो जिस फैक्ट्री में प्रतिबंधित दवाइयां तैयार की जाती है और किसके माध्यम से बाजार में उतारा जाता है इसकी सप्लाई लोकल मार्केट में कैसे हो जाती है इस पर काम करे तो शायद युवा नस्लों को बर्बाद करने वाली यह प्रतिबंधित नशीली दवाइयां मिलना ही बंद हो जाएगी । हम आपको बता दें कि पिछले दिनों भी पुलिस ने लाखों रुपए की नशीली दवाइयों का जखीरा पकड़ा था और तब पुलिस के आला अधिकारियों ने कहा कि वे वह ये कहां बनता है और इसे कौन शहर लाता है इसकी जानकारी जुटा रहे हैं और सीधा बड़े सौदागर पर करवाई कर वे इसे पूरी तरह से बंद करवा सकते हैं , लेकिन अब तक पुलिस केवल हवा में हाथ पैर ही मार रही है । आज पुलिस ने लाखों रुपए की नशीले प्रतिबंधित सिरप कोरेक्स के 1500 बॉटल , 3000 नग रेकसोजेसिक इंजेक्शन और 48 सौ नग एविल इंजेक्शन के खेप को बरामद करने में सफलता तो पाई है लेकिन इसे तैय्यार करने वाले बड़े सौदागर तक पहुचने में पुलिस नाकाम साबित हो रही है । यदि पुलिस थोड़ा और मेहनत कर ले तो शायद देश का युवा नशे में बर्बाद होने से बच सकता है । सिविल लाइन पुलिस ने आज करवाई कर नशे का सामान बेचने वाले आरोपियो से लाखों रुपए के प्रतिबंधित नशीले इंजेक्शन , सिरप के साथ 3 मोबाइल , 1 दुपहिया वाहन और नगद रकम के साथ सरकंडा मुरुम खदान में रहने वाले आरोपी रविनंदन कश्यप , पवार हाउस तोरवा निवासी अविनाश दुबे और नेचर सिटी में रहने वाले दीपेश शर्मा को पकड़ा है । आरोपियो पर एनडीपीएस की धाराओं के तहत करवाई की है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed