खाते से रकम उड़ाने वाले धोखेबाज को पकड़ने में पुलिस को मिली सफलता , 16 लाख रुपए किये बरामद,,,

बिलासपुर सिविल लाइन पुलिस के अनुसार नया सरकंडा जोरापारा तालाब के पास रहने वाला प्रकाश मिश्रा पिता एलएन मिश्रा 35 वर्ष ठेकेदार है । वह पीडब्ल्यूडी और नगर निगम में ठेकेदारी का काम करता है । उसने ऑफिस में काम करने के लिए पामगढ़ क्षेत्र के कोसा निवासी जितेश थवाईत पिता भोला शंकर थावाइट को कर्मचारी रखा था । काम करते-करते आरोपी जितेश प्रकाश का भरोसेमंद कर्मचारी हो गया था । इसी का फायदा उठाते हुए जितेश ने प्रकाश के खाते से लगभग 18 लाख 65 हजार रुपए उड़ा लिए । पूरा मामला इस प्रकार है कि प्रकाश का भरोसेमंद होने के नाते प्रकाश ने जितेश को अपने हस्ताक्षर युक्त चेक दे दिए थे और किसी काम से जबलपुर चला गया था । पिछले 8 अगस्त को उसे रकम की आवश्यकता हुई तब वह बिलासपुर के व्यापार विहार के बैंक ऑफ इंडिया पहुंचा । जहां उसका खाता है । बैंक से अपने खाते में जमा रकम की जानकारी प्रकाश ने ली , तब उसके होश उड़ गए। उसके बैंक अकाउंट में सिर्फ 4 लाख रुपए शेष थी। प्रकाश ने बैंक से जानकारी ली तो पता चला कि 25 जुलाई को उसके कर्मचारी जितेश ने चेक के माध्यम से 18 लाख ₹65000 रुपए अपने खाते में आरटीजीएस कर ट्रांसफर कर दिया है । फिर स्टेट बैंक कलेक्ट्रेट शाखा में अपने खाते से 25 जुलाई को 10 लाख रुपए और 26 जुलाई को ₹8 लाख 50 हजार रुपए भी निकल लिया है । इससे परेशान होकर प्रकाश मिश्रा ने मामले की शिकायत थाना सिविल लाइन में की । उसकी रिपोर्ट पर पुलिस ने जितेश के खिलाफ धारा 420 के तहत अपराध दर्ज कर जांच शुरू कर दी । उसके गाँव कोसा से उसे पकड़ कर लाया गया । पूछताछ में आरोपी जितेश ने करीब 16 लाख रुुपए की जानकारी दी । पुलिस ने आरोपी से 16 लाख रुपए बरामद किए वहीं शेष रकम बरामद करना है, लिहाजा पुलिस ने उसे कोर्ट में पेश कर रिमांड पर 2 दिन के लिए पुलिस रिमांड पर लिया है पुलिस उससे पूछताछ कर रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed