बस ड्राइवर,कंडक्टर के सामने भूखो मरने की आई नौबत, कलेक्टर से सहयोग राशि दिलाने की मांग,,,

रायपुर कोरोना काल के बाद जिस तरह आम नागरिक व्यापारी और मजदूर वर्ग के लोग परेशान रहे , उनकी रोजी-रोटी के लाले पड़ गए थे उनमें कुछ की जिंदगी तो पटरी पर आ गई , लेकिन अब भी कुछ वर्ग ऐसा है जिनको अब भी रोजी रोटी के लिए लाले पड़े है । ऐसा ही एक वर्ग है जो लगातार प्रशासन , विधायक और सांसद तक अपनी फरिया लिए घूम रहा है । यात्री बस , कंडक्टर संघ लगातार अपनी मांगों को लेकर दर दर भट रहा है । आज फिर एक बार बस ड्राइवर , कंडक्टर संघ कलेक्टर कार्यालय और विधायक को अपनी मांगों का पुलिंदा थमाया । संघ की मांग है कि उन्हें परिवार चलाने राशि की व्यवस्था प्रशासन करे । संघ ने बताया कि भले ही सरकार ने बस चलाने की अनुमति तो दे दी है लेकिन शर्त भी रखी है । सरकार ने कहा है बस चलाने पर फिजिकल डिस्टेंस का पालन किया जाना अनिवार्य कर दिया है । उम्मीद भरी नजरों से देख रहे । हालांकि बस मालिक संघ ने श्रम विभाग को कहा कि वह आधी तनख्वा वे अपने कर्मचारियों को दे रहे है लेकिन संघ के लोगो का कहना है कि उन्हें मार्च माह से अब तक एक रुपए भी नही मिला है और उनके सामने भीख मांगने की नौबत आ गई है । इस मामले में अब बॉल प्रशासन के पाले में है । प्रशासन यातो खुद इन्हें गुजर बसर के लिए राशि मुहैय्या कराए या फिर बस मालिको से पैसा दिलाए तब यह वर्ग अपना और अपने परिवार का पालन पोषण कर सके ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed