खबर ज़रा हटके : पालक से बनाई बैटरी मोबाइल और कार से लेकर सेना के बम होंगे मिनटों में चार्ज ,,,

राजा खान

अगर हम आपसे कहें कि पालक से आपका मोबाइल चार्ज हो जाएगा तो? आपको लगेगा कि हम मजाक कर रहे हैं। भला पालक से मोबाइल कैसे चार्ज किया जा सकता है। लेकिन हम मजाक नहीं कर रहे हैं। वैज्ञानिकों से पालक से ऐसे कैटेलिस्ट बनाएं हैं, जिनके अंदर इतनी पावर है कि उससे चलने वाले बैटरी इलेक्ट्रॉनिक कार और यहां तक कि मिलिट्री इक्विपमेंट्स भी चार्ज कर सकते हैं। ये बैटरी में इस्तेमाल होने वाले अन्य कैटलिस्ट से कई गुना सस्ती है। साथ ही इसके पॉवर ने वैज्ञानिकों को भी अचंभित कर दिया है।

आज तक हमलोगों ने पालक को इंसान के हेल्थ के लिहाज से अच्छा सुना था।पालक में मौजूद तत्व इंसान की बॉडी में कई न्यूट्रिशन की कमी को पूरा करते हैं।

लेकिन आज तक आपने ये नहीं सुना होगा कि इस पालक में ऐसे तत्व पाए जाते हैं जिससे बैटरी को पॉवर मिलती है।
अमेरिकन यूनिवर्सिटी के रिसर्चर्स ने इस पत्तेदार सब्जी से कार्बन नैनोशीट्स बनाए जो मेटल एयर बैटरीज में ईंधन का काम कर सकती है।
इसके लिए टीम ने सब्जी को कई प्रॉसेस से गुजारा। इसमें इन्हें अच्छे से धोना भी शामिल है। इसके बाद इनका जूस निकाल कर इसनहें फ्रीज ड्राय किया जाता है। जिसके पास इससे बारीक़ पाउडर तैयार किया जाता है।

इस स्टेप के बाद पालक को मोर्टार से रियेक्ट करवाकर इससे नाइट्रोजन बनाया जाता है। इसे जब बैटरी में कैटलिस्ट की तरह इस्तेमाल किया जाता है तो बैटरी की पॉवर कई गुना बढ़ जाती है।

एक्सपर्ट्स का मानना है कि इस बिजली से ना सिर्फ स्मार्टफोन्स बल्कि इलेक्ट्रॉनिक कार और मिलिट्री इक्विपमेंट्स भी मिनटों में चार्ज किये जा सकते हैं। ये कैटलिस्ट हाइड्रोजन फ्यूल सेल्स और मेटल एयर बैटरीज में यूज किये जाते हैं।

पालक से चलने वाले ये बैटरी काफी सस्ते होते हैं। साथ ही इसके द्वारा बैटरी में डलने वाले टॉक्सिक ऑप्शंस को भी रिप्लेस किया जा सकता है।

पालक से बैटरी कैटेलिस्ट बनाने में सफल होने के बाद अब रिसर्चर्स दूसरे ऑप्शंस भी ढूंढ रहे हैं। वो अब घास और चावल से भी बिजली बनाने की कोशिश कर रहे हैं।

उनके मुताबिक़ हर हरी सब्जी आयरन और नाइट्रोजन में रिच होती है। ऐसे में इनसे बैटरी को रन करवाने में मदद मिलेगी।

You may have missed